महाराष्ट्र के यवतमाल में सोमवार को पांच साल से कम उम्र के बारह बच्चों को पोलियो वैक्सीन के बजाय सेनिटाइज़र ड्रॉप पिला दी गई जिसके बाद सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।इसकी जानकारी यवतमाल के जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्रीकृष्ण पांचाल ने दी है। अधिकारी ने कहा कि बच्चों की हालत अब ठीक हैं और घटना के संबंध में एक हेल्थ, डॉक्टर और आशा वर्कर सहित तीन अधिकारियों पर कार्रवाई करने के निर्देश दे दिए गए है।अधिकारी ने बताया कि यह घटना कापसिकोपरी गांव में भानबोरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर हुई जहां एक से पांच साल के बच्चों के लिए राष्ट्रीय पल्स पोलियो टीकाकरण कार्यक्रम चलाया जा रहा है।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्रीकृष्ण पांचाल ने एएनआई को बताया कि “पांच साल से कम उम्र के बारह बच्चों को यवतमाल में पोलियो वैक्सीन के बजाय हैंड सेनिटाइज़र ड्रॉप्स दिए गए।  बच्चों ने उल्टी और बेचैनी की शिकायत की जिसके बाद सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया और अब वे ठीक हैं। इस घटना को लेकर जांच चल रही है। बता दें कि राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने 30 जनवरी को राष्ट्रपति भवन में पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए राष्ट्रीय पोलियो प्रतिरक्षण अभियान शुरू किया था।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, भारत एक दशक से पोलियो से मुक्त है वहीं पड़ोसी देश अफगानिस्तान और पाकिस्तान में अभी भी पोलियो गंभीर बीमारी का कारण बना हुआ है, इसी को देखते हुए भारत में पोलियो वायरस के दोबारा प्रवेश को रोकने के लिए भारत अभी भी सतर्क है।

1420cookie-checkमहाराष्ट्र में बड़ी लापरवाह, बच्‍चों को पोलियो ड्रॉप की जगह पिला दी हैंड सैनिटाइजर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

For Query Call Now