गुजरात /अहमदाबाद।  सरकार बजट 2021-22 की तैयारियों में जुटी है। केंद्र सरकार की तरह ही गुजरात सरकार का बजट भी इस बार पेपरलेस होगा। यहां विधायकों को पेन ड्राइव में बजट के डॉक्यूमेंट दिए जाएंगे। उसके बाद सरकार जिस दिन पेपरलेस बजट पेश करेगी, वहां कागज नहीं दिखाया जाएगा। बता दिया जाए कि, रूपाणी सरकार ने राज्य में पिछले साल से पेपरलेस बजट की शुरूआत की थी। तब 2,17,287 रुपए का बजट पेश किया गया था। इसी के साथ गुजरात की सकल राज्य घरेलू उत्पाद जीएसडीपी 2020-21 के लिए 18,84,922 करोड़ रुपये होने का अनुमान लगाया गया था।

गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने बताया कि, बजट के ज्यादातर डॉक्यूमेंट सॉफ्ट कॉपी में होंगे। पिछले वर्ष की तरह पेपरलेस बजट की प्रक्रिया का इस साल भी आगे बढ़ाएंगे। पटेल ने कहा कि, लाइब्रेरी और रिकॉर्ड के लिए 150 कॉपीज छपवाई जाएंगी। बाकी की कॉपी व अन्य डॉक्यूमेंट पेनड्राइव में विधायकों को दिए जाएंगे। पिछला बजट 26 फरवरी को पेश किया गया था, हालांकि अबकी बार विधानसभा में बजट पेश करने की तारीख में बदलाव हो सकता है।’ संभावना जताई जा रही है कि, निकाय चुनावों के चलते ऐसा होगा।

गौरतलब है कि, फरवरी में ही राज्य में निकाय चुनाव कराए जाने हैं। जिसके परिणाम 2 मार्च को आएंगे। निकाय चुनाव के चलते ही इस बार का बजट 3 मार्च को पेश होने की संभावना है। रोचक बात यह है कि, पहले भी 3 मार्च को बजट पेश करने पर विचार-विमर्श हुआ था। हालांकि, बाद में तारीख बदल दी गई थी।

4150cookie-checkगुजरात सरकार का बजट भी केंद्र सरकार की तरह पेपरलेस होगा, विधायकों को पेनड्राइव में डॉक्यूमेंट दिए जाएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Call Now ButtonFor Query Call Now