मुंबई। महाराष्‍ट्र में काबू होते-होते कोरोना वायरस अचानक फिर कोहराम मचाने लगा है। संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। महाराष्‍ट्र सरकार ने चेतावनी दी है कि अगर लोगों ने कोविड नियमों का पालन नहीं किया तो फिर से लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है। हालांकि कई शहरों में नाइट कफ्यू से लेकर लॉकडाउन तक लगाना शुरू किया जा चुका है। वहीं संक्रमण को रोकने के लिए कोरोना के नए गाइडलाइन जारी किए गए हैं। हालांकि इससे कोरोना केस में गिरावट देखी जा रही है। महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि उन्‍हें कोरोना के दूसरी लहर की चिंता है। आपको बता दें कि महाराष्‍ट्र में अबतक कोरोना से 52000 लोगों की मौत हो चुकी है।

मीडिया से बात करते हुए ठाकरे ने कहा कि कोरोना से बचने का साधारण से मंत्र है मास्‍क पहनना। इस मंत्र का पालन कर लॉकडाउन से बचा जा सकता है। उन्‍होंने कहा आगमी 8 दिनों के बाद फिर से स्थिति की समीक्षा होगी और लॉकडाउन पर निर्णय लिया जाएगा। महाराष्ट्र के मंत्री नितिन राउत ने कहा है कि कोरोनो वायरस के मामलों में हालिया उछाल को देखते हुए नागपुर जिले में सख्त प्रतिबंध लगाए गए हैं। समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए राउत ने कहा कि मंगलवार से 7 मार्च तक स्कूल, कॉलेज और कोचिंग कक्षाएं बंद रहेंगी, जबकि इस अवधि के दौरान शनिवार और रविवार को प्रमुख बाजार नहीं खुलेंगे। उन्होंने कहा कि 25 फरवरी से 7 मार्च तक मैरिज हॉल गैर-ऑपरेशनल होंगे और सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक कार्यक्रमों की भी अनुमति नहीं होगी। जिला प्रशासन को कोरोना टेस्‍ट शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। अमरावती में एक हफ्ते का आंशिक लॉकडाउन

महाराष्‍ट्र में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए अमरावती के डिविजनल कमिश्नर ने पांच जिलों नें आंशिक लॉकडाउन लगाया है। ये शहर हैं- अमरावती, अकोला, बुलढाणा, वाशिम और यवतमाल। इन सभी जिलों में अगले सात दिनों के लिए आंशिक लॉकडाउन का पालन किया जाएगा। महाराष्‍ट्र में 43 में से 26 मंत्री कोरोना से हो चुके हैं संक्रमित

अंग्रेजी वेबसाइट इंडिया टूडे के मुताबिक महाराष्ट्र सरकार के 43 में 26 मंत्री इस खतरनाक वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से पांच में संक्रमण की पुष्टि बीते एक हफ्ते में हुई है। भुजबल समेत इनमें जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल, खाद्य और औषधि प्रशासन मंत्री डॉ राजेंद्र शिंगणे, स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे और स्कूली शिक्षा राज्यमंत्री ओमप्रकाश बाबाराव कडू शामिल हैं। इनके अलावा कई विधायक भी संक्रमित हो चुके हैं।

35870cookie-checkनाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन से महाराष्‍ट्र में घटने लगे कोरोना केस, जानिए क्‍या है ताजा हालत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
For Query Call Now