महाराष्ट्र(CNF)

MS धोनी और केसरी जैसी हिट फिल्मों में काम कर चुके एक्टर संदीर नाहर ने मुंबई के गोरेगांव में स्थित अपने घर में खुदकुशी कर ली. मुंबई पुलिस के अनुसार इस मामले में केस दर्ज किया जा चुका है और मामले की जांच की जा रही है. बता दें, सुसाइड करने से पहले संदीप नाहर ने फेसबुक पर अपना एक वीडियो पोस्ट किया था और साथ में एक सुसाइड नोट लिखा था, जिसमें उन्होंने निजी जिंदगी और प्रोफेशनल लाइफ में हो रही दिक्कतों का जिक्र किया था. मुंबई के गोरेगांव के घर में कल संदीप नाहर का शव मिला, पुलिस के अनुसार एक्टर ने खुदकुशी की है. संदीप के इस तरह अचानक सुसाइड करने से पूरा एंटरटेनमेंट जगत सदमे में है.

संदीप ने सुसाइड के पहले जो वीडियो फेसबुक पर पोस्ट किया था, उसमें उन्होंने अपनी खुदकुशी की वजह बताते हुए कहा, हेलो नमस्कार मैं हूं संदीप नाहर. आप लोगों ने मुझे कई फिल्मों में देखा होगा और आज ये वीडियो बनाने के पीछे मेरा एक मकसद है, और मकसद ये है कि पहले तो आपको सुनकर थोड़ा अजीब लगेगा कि मैं कैसी बातें कर रहा हूं, लेकिन लाइफ में बहुत सारी प्रॉब्लम्स हैं, लेकिन मैं आज स्टेबल नहीं हूं, क्योंकि मेरी वाइफ कंचन शर्मा… हो क्या रहा है कि डेढ़ दो साल से में ट्रोमा से निकल नहीं पा रहा हूं. मैं उसको यानि कंचन शर्मा समझा समझाकर थक चुका हूं. पास्ट की एक ही बात रिपीट करना, रोज लड़ना, 365 दिन में से… 200 बार सुसाइड की बातें करना. मैं मर जाऊंगी, तुम्हें फंसा दूंगी, तेरा करियर खराब कर दूंगी. मैं बहुत ही इरिटेट हो चुका हूं.

उन्होंने आगे कहा, मैं हर बात उसे समझाता हूं कि कंचन ये ऐसे नहीं ऐसे करते हैं, इसको समझो… वो मेरी फैमिली को गालियां देती है, मां से इतनी नफरत करती है मेरे… आज कल ऐसा टाइम आ गया है कि मैं परिवार वालों का फोन नहीं उठा पाता इसके साथ और बहुत सारी चीजें हैं, जो खराब हो चुकी हैं और इतनी खराब हो चुकी हैं कि मैं अब नहीं सह पा रहा हूं. काम को लेकर मुंबई में इतना स्ट्रेस होता है, हर चीज को लेकर स्ट्रेस होता है, लेकिन काम का स्ट्रेस फिर भी झेला जा सकता है, लेकिन ये औरत का स्ट्रेस है, झेलना बहुत मुश्किल हो चुका है. ये बहुत सारी ऐसी-ऐसी बातें मुझे बोल देती है, ये मेरा नाम किसी से भी जोड़ देती है, मैं दो साल से इसके साथ हूं.. उठना-बैठना.. लेकिन शक का कोई इलाज नहीं होता.

संदीप वीडियो में आगे कहते हैं, ये हर चीज पर लड़ती है, और इसका लड़ना नॉर्मल लड़ना नहीं है, जैसे साइको होते हैं मतलब.. एक होता है इंसान जो शराब पीता है और लड़ता है, लेकिन उसकी दारू उतर जाती है, तो वो नॉर्मल हो जाता है. नॉर्मली ऐसा होता है कि बाद उसे गिल्टी भी फील होती है. उसे अपनी गलतियों का एहसास भी होता है. लेकिन इसके केस में ऐसा है, अगर ये लड़ती है, उसे अगर कोई चीज बुरी लगती है, तो वो उसके दिमाग में बैठ जाती है. बैठ इतनी गंदे तरीके से जाती है कि उसको निकालना बहुत मुश्किल होता है. ये कितनी रातें खराब कर देती है. यहां तक की अभी जनवरी की ही बात है, जनवरी में ये घर से भाग गई थी, इसकी मम्मी बहुत साथ देती है. दरअसल, इसकी 2 बहनें हैं और दोनों की लव मैरेज हुई है, तो इसकी मम्मी ने इसके दोनों जीजा को भी अंदर करवाया था और वो कंचन से कहती है कि पुलिस कंप्लेन करो, लेकिन किस बुनियाद पर. फेक चीजों पर. झूठ बनाकर आप केस बनाओ ये क्या बातें होती हैं.

24480cookie-check महाराष्ट्र(CNF)/ एक और बॉलीवुड एक्टर ने की खुदकुशी, फेसबुक पर वीडियो किया था पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
For Query Call Now