पटना। निजी विमानन कंपनी इंडिगो के स्थानीय स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड के कथित मुख्य साजिशकर्ता एवं शूटर को गिरफ्तार करने और यह वारदात रोड रेज के चलते अंजाम दिए जाने के बिहार पुलिस के दावे पर मृतक की पत्नी नीतू सिंह ने सवाल उठाते हुए बुधवार को कहा कि उनके पति और हत्यारे के बीच कभी कोई विवाद नहीं हुआ। पुलिस के खुलासे पर बिहार में राजनीति तेज हो गई है। विपक्ष दावा कर रहा है बिहार पुलिस और यहां की सरकार अपनी साख बचाने के लिए किसी को बलि का बकरा बना रही है। मामले में तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट किया है। तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि रूपेश हत्याकांड में मैंने आज से 15 दिन पहले कह दिया था नीतीश कुमार जी अपने नाक के बाल और आँखों के तारे को बचाने को लिए बकरा खोज रहे है। आज बिहार पुलिस ने बकरा खोज ही लिया। यक़ीन मानिए ऐसी कहानी C ग्रेड की घिसी-पिटी फ़िल्मों में भी नहीं मिलेगी।आपको पुलिस की कहानी ज़रूर सुननी चाहिए।

बता दें कि रूपेश सिंह की 12 जनवरी को हत्या कर दी गई थी। नीतू ने पुलिस पर किसी को बचाने और कुछ छुपाने का आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले साल 29 नवंबर को उनके पति और हत्यारे के बीच कोई झगड़ा हुआ ही नहीं था। अपने और अपने परिवार के लिए न्याय की मांग गुहार लगाते हुए नीतू ने कहा कि उनके पति के वाहन से एक मोटरसाइकिल के टकराने की घटना सही है पर पुलिस द्वारा जिस तरह का विवाद व झगड़ा होने का दावा किया जा रहा है, वह सही नहीं है। उन्होंने कहा कि आरोपी ने उनके पति की हत्या की होगी लेकिन कुछ अन्य कारण भी हैं जिसपर से पुलिस को पर्दा उठाना चाहिए। नीतू ने कहा कि वे पुलिस के निष्कर्ष से संतुष्ट नहीं हैं और अगर जरूरत पड़ी तो वह इस मामले की आगे की जांच की मांग करेगी। रूपेश की बहन अंजू सिंह ने भी इसी तरह की भावना व्यक्त करते हुए कहा कि उनके भाई के वाहन से मोटरसाइकिल के टकराने की घटना हुई थी। 

 


6160cookie-checkरूपेश सिंह हत्याकांड: पुलिस के दावे पर पत्नी को भरोसा नहीं, तेजस्वी ने भी उठाए सवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
For Query Call Now