filter: 0; fileterIntensity: 0.0; filterMask: 0; captureOrientation: 0; brp_mask:0; brp_del_th:null; brp_del_sen:null; delta:null; module: photo;hw-remosaic: false;touch: (-1.0, -1.0);sceneMode: 8;cct_value: 0;AI_Scene: (-1, -1);aec_lux: 0.0;aec_lux_index: 0;albedo: ;confidence: ;motionLevel: -1;weatherinfo: null;temperature: 40;

सम्राट अशोक की जयंती समारोह में मंचासीन अतिथि।
मौर्य कुशवाहा उत्थान समिति ने मनाई सम्राट अशोक की जयंती
सिटी न्यूज़ फतेहपुर 
फतेहपुर(CNF)। मौर्य कुशवाहा उत्थान समिति के तत्वाधान में मंगलवार को महान सम्राट चक्रवर्ती अशोक मौर्य की जयंती मनाई गई। उपस्थित वक्ताओं ने उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए उनके बताए गए मार्ग पर चलने का आहवान किया।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में रेल बाजार इंटर कालेज के पूर्व प्रधानाचार्य श्याम लाल वर्मा ने शिरकत की। उन्होने कहा कि संपूर्ण विश्व में वसुधैव कुटुम्बकम की विचारधारा को वास्तव में सम्राट अशोक ने ही चरितार्थ किया था। उन्होने नेपाल, चीन, बर्मा, श्रीलंका, कम्बोडिया, जापान आदि देशों तक धम्म का प्रचार प्रसार कराया और सभी को भावनात्मक रूप से एक कर दिया। नगर पालिका परिषद के चेयरमैन राजकुमार मौर्य एडवोकेट ने कहा कि आज भी जो प्रशासनिक व्यवस्था है उनमें जो कभी कल्याणकारी योजनाएं चल रही हैं उन सभी में सम्राट अशोक की जनकल्याणकारी योजनाओं की झलक दिखाई देती है। हुसैनगंज विधायक ऊषा मौर्या ने कहा कि विश्व में शासक तो बहुत हुए लेकिन सम्राट अशोक जैसा जन कल्याणकारी शासक पूरी दुनिया में कहीं नहीं हुआ। ज्ञान सिंह मौर्य ने कहा कि मौर्य कुशवाहा उत्थान समिति महान शासक अशोक के विचारों पर चलती है जिस प्रकार सम्राट अशोक कहते थे कि किसी धर्म की निंदा नहीं करनी चाहिए। उसी प्रकार समिति सभी धर्मों एवं सम्प्रदायों का समान भाव से सम्मान करती है। पाल सामुदायिक समिति के अध्यक्ष अमित पाल ने कहा कि आज यदि लोकतंत्र में किसी शासक की जयंती मनाई जा रही है तो निश्चित रूप से वह शासक बहुत ही महान रहा होगा। इस मौके पर शत्रुघन लाल, शंकर लाल, लालचंद्र मौर्य, लारेंज मौर्य, रामानंद मौर्य, शिव प्रताप मौर्य, भोला मौर्य, बुद्ध प्रकाश मौर्य, प्रियंका मौर्य, सरोज मौर्य, सुमन मौर्य, मेवालाल मौर्य, फूल सिंह मौर्य, बब्लू मौर्य, शुभाष मौर्य, उमेश मौर्य, सुधीर मौर्य, संतोष मौर्य, राजकुमार तिलक भी मौजूद रहे।

929810cookie-checkफतेहपुर(CNF)/ सम्राट अशोक ने चरितार्थ की थी वसुधैव कुटुम्बकम की विचारधारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
For Query Call Now