PHOTO–ARUN KUMAR

खागा/फतेहपुर (CNF)/ नगर से निकलने वाले ठोस कचरे की छटाई के बाद तैयार होने वाली जैविक खाद के साथ ही अब नगर पंचायत कचरे में मिलने वाले प्लास्टिक, पॉलीथिन तथा ई-वेस्ट की बिक्री करके मुनाफा कमाएगी। एमआरएफ सेंटर में तैयार होने वाली खाद तथा छंटाई के बाद निकलने वाले प्लास्टिक व लोहा आदि सामग्री की बिक्री के लिए वाराणसी की एक संस्था से एग्रीमेंट किया गया है।

वाराणसी सिकरौल की जैविक वेस्ट मैनेजमेंट संस्था ने नगर पंचायत से जैविक खाद व प्लास्टिक कचरा खरीदने संबंधी पत्र लिखा था। पॉलीथिन, रैपर, प्लास्टिक पेट-बॉटल, ई-वेस्ट मैटेरियल इसमें शामिल किया गया था। चेयरमैन गीता सिंह व ईओ लालचंद्र मौर्य की अध्यक्षता में बीते दिनों इस संबंध में बैठक हुई थी। इसमें मूल्य निर्धारण करके संस्था को अवगत कराया गया था। वाराणसी की संस्था ने नगर पंचायत द्वारा भेजी गई मूल्य सूची पर अपनी संस्तुति दी है। ईओ ने बताया कि एमआरएफ सेंटर में कचरा की छंटाई के बाद उससे अलग-अलग प्रकार की चीजें निकलती हैं। ठोस कचरे से जैविक खाद बनाई जाती है, जबकि प्लास्टिक व अन्य धातुओं को अलग करके एकत्र किया जाता है। बताया कि जैविक खाद के साथ-साथ प्लास्टिक व धातु कचरे की बिक्री से नपं की आमदनी में वृद्धि होगी। नगर व आस-पास के किसानों को भी प्लास्टिक कचरे से राहत मिलेगी। ईओ ने बताया कि जिस संस्था के साथ करार हुआ है, उसका वाहन आपूर्ति के लिए आएगा।

39210cookie-checkफतेहपुर (CNF)/ जैविक खाद के साथ कचरे से भी मुनाफा कमाएगी नगर पंचायत |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
For Query Call Now