रायबरेली(CNF)/ समाजसेवी ज्ञान प्रकाश तिवारी ने कहा कि किसी भी देश व राज्य को विकासशील करने में निजी करण उसकी समस्या नहीं है समस्या आज के उन नेताओं से है जो देश को निजी करण की तरफ धकेल रहे हैं आज इस बजट से आम जनमानस को कोई विशेष लाभ नहीं मिलेगा इस अवसर पर श्री तिवारी ने कहा अगर वास्तव में राज्य सरकार और केंद्र सरकार जनता की शुभचिंतक बनना चाहती है तो उसे सबसे पहले देश के सभी सांसद विधायक की पेंशन बंद की जाए और अपने सरकारी व्यवस्था को दुरुस्त करते हुए समाज को जागरूक करें आज जिस प्रकार से सरकारी विभागों का निजीकरण किया जा रहा है वह सही नहीं है बड़े-बड़े उद्योगपति एजेंसी को लेकर सरकारी सिस्टम में बाधा डालते हैं इस अवसर पर श्री तिवारी ने कहा सरकार अपनी जिम्मेदारी से हटकर निजीकरण को बढ़ावा दे रही है अगर वास्तव में जनता और कर्मचारी की शुभचिंतक है देश की सभी सांसद विधायकों की पेंशन पूर्ण रूप से बंद कर देनी चाहिए श्री तिवारी ने कहा भारत के देश के सक्रिय प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी से हम अपील करते है जिस प्रकार से आपने और भी कार्य अच्छे किए हैं ठीक उसी प्रकार से आप देश के सभी सांसद और विधायकों के पेंशन बंद करके देश की जनता को किसानों को बेरोजगारों को यह विश्वास दिलाएं भारत एक स्वामी विवेकानंद की सोच रखने वाला युवा राष्ट्र है किसान भी और युवा भी इस भारत के अंश है श्री तिवारी ने कहा सरकार को अपनी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए निजीकरण को बढ़ावा ना देकर सरकारी सिस्टम में सुधार करने की जरूरत है इस अवसर पर श्री तिवारी ने कहा इस बजट से मध्यमवर्गीय को कोई लाभ नहीं मिलने वाला यह बजट सीधे तौर पर पूंजीपतियों के लिए है इस अवसर पर श्री तिवारी ने कहा कि आज पूरे देश में जिस तरह से पेट्रोल डीजल रसोई गैस के दाम बढ़े है उससे आम जनमानस का जीवन यापन करना बहुत ही मुश्किल हो रहा है और ऐसे समय में प्राइवेट स्कूल भी फीश लेने में कोई कसर नही छोड़ रहे हैं आज इस महंगाई में निजीकरण भी बहुत बड़ी बाधा बन रही है।

 

रायबरेली ब्यूरो जावेद आरिफ

34470cookie-checkनिजी करण से देश का भला नहीं होगा /ज्ञान प्रकाश तिवारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
For Query Call Now