फरार बदमाश मोती पर था एक लाख का इनाम
9 फरवरी को सिपाही को पीट-पीटकर उतारा था मौत के घाट,एक दारोगा को किया था घायल
कासगंज(CNF)
कासगंज सिपाही हत्याकांड का मुख्य आरोपी बदमाश मोती देर रात मुठभेड़ में ढेर हो गया। मुठभेड़ में बदमाश मोती को पुलिस ने देर रात मार गिराया। पुलिस की जवाबी फायरिंग में मुख्य आरोपी मोती घायल हो गया था जिसके बाद उसे ज़िला अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया जहां पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। 9 फरवरी की रात को घटना को अंजाम देकर इनामी बदमाश मोती फरार चल रहा था जिस पर पुलिस ने इनाम पचास हजार से बढ़ाकर एक लाख रूपए कर दिया था। सिपाही की पीट पीट कर हत्या कर फरार चल रहा था बदमाश मोती।
9 फरवरी की रात कासगंज में बदमाश मोती ने एक सिपाही की पीट पीट कर हत्या कर दी थी। साथ ही एक दारोगा को भी भालाओ से भेद कर अचेत अवस्था में कर दिया था। जिसका इलाज अलीगढ़ में चल रहा है। जिसके एक आरोपी को पुलिस ने पहले ही मुठभेड़ में मार गिराया था। वही मुख्य आरोपी मोती पर एक लाख का इनाम था जो कि फरार चल रहा था। बीती शनिवार की रात पुलिस ने कासगंज के सिढ़पुरा के करतला रोड के पास मुठभेड़ में उसे भी मार गिराया। बदमाश मोती के भाई एलकार को पुलिस पहले ही मुठभेड़ में मार चुकी थी। बदमाश मोती कासगंज में रहकर कई अवैध शराब के काम करता था।
मुठभेड़ में ढेर हुए बदमाश मोती से पुलिस से लूटी गई सरकारी पिस्टल भी बरामद हुई है। वहीं एक अवैध 315 बोर का तमंचा मय खोखा व जिंदा कारतूस के साथ बरामद किया गया है।
फरार चल रहे थे बदमाश मोती को पकड़ने के लिए कई जिलों में उसके पोस्टर भी चस्पा किए गए थे। कई टीमों को उसके पकड़ने के लिए लगाया भी गया था।

31870cookie-checkकासगंज(CNF)/ कॉन्स्टेबल हत्याकांड: शराब माफिया मोती धीमर मुठभेड़ में ढेर, एक लाख रुपए का था इनामी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

For Query Call Now