उत्तराखंड। ऋषिगंगा और धौलीगंगा नदी का जल स्‍तर फिर अचानक से और तेजी से बढ़ने लगा है। जिसके बाद पुलिस कंट्रोल रूम ने अलर्ट जारी करते हुए नदी के आस-पास के इलाके में रहने वाले लोगों को अलर्ट किया है। वहीं बचाव कार्य को रोक दिया गया है।

चमोली पुलिस ने सभी को निवेदन किया है कृपया घबराएं नहीं अलर्ट रहें। पुलिस कंट्रोल रूम गोपेश्‍वर ने ये जानकारी दी। वहीं चमोली जिले के जोशीमठ में जेसीबी मशीन, उपकरण और बचाव दल सुरंग से बाहर निकलते हैं, जहां बचाव अभियान चल रहा है, क्योंकि ऋषिगंगा नदी में पानी के स्तर में वृद्धि के कारण ऑपरेशन अस्थायी रूप से रोक दिया गया है। परियोजना निदेशक एनटीपीसी उज्जवल भट्टाचार्य ने बताया कि हम 6 मीटर की दूरी तक पहुँच गए और फिर महसूस किया कि वहाँ पानी आ रहा है। अगर हम जारी रखते, चट्टानें अस्थिर होतीं, तो समस्याएँ बढ़ती और उत्खनन होता। इसलिए हमने ड्रिलिंग ऑपरेशन को कुछ समय के लिए स्थगित कर दिया है। एनटीपीसी इंजीनियर ने बताया श्रमिक जो वहां काम कर रहे थे और वर्तमान में वहां हैं, सुरक्षित हैं। उन्हें 3 दिनों के लिए प्रशिक्षित किया जाता है, उसके बाद ही उन्हें अंदर भेजा जाता है। उन्‍होंने ये भी बताया कि उन्हें समय-समय पर पेप टॉक भी दिया जाता है। सभी उपकरण परीक्षण और प्रमाणित हैं। जो चालक दल वहां काम कर रहा था वह सक्षम और प्रशिक्षित है।

18270cookie-checkउत्तराखंड: ऋषिगंगा और धौलीगंगा नदी में फिर बढ़ा जलस्तर, तपोवन टनल में रोका गया बचाव अभियान, अलर्ट हुआ जारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

For Query Call Now