वाशिंगटन: पूर्व अमेरिकन जिमनास्ट और ओलंपिक कोच जॉन गेडर्ट ने मानव तस्करी और यौन शोषण जैसे 24 आरोप लगने के बाद खुदकुशी कर ली है। उसकी मौत की पुष्टि करते हुए मिशिगन के अटॉर्नी जनरल डाना नसेल ने कहा है कि अमेरिका के पूर्व ओलंपिक महिला कोच जॉन गेडर्ट को मृत पाया गया है। खुदकुशी से कुछ घंटे पहले ही पूर्व ओलंपिक कोच पर महिला खिलाड़ियों ने यौन शोषण, गुंडागर्दी और मानव तस्करी के आरोप लगाए हैं।

पूर्व ओलंपिक कोच पर सनसनीखेज आरोप मिशिगन के अटॉर्नी जनरल डाना नसेल के ऑफिस ने अपने बयान में कहा है कि पूर्व ओलंपिक कोच जॉन गेडर्ट पर कई सनसनीखेज आरोप महिला खिलाड़ियों ने लगाए थे। उनपर महिला खिलाड़ियों से यौन शोषण, गुंडागर्दी, मानव तस्करी और पीस ऑफिसर के सामने झूठ बोलने के आरोप लगाए गये थे। बताया जा रहा है कि ऐसे आरोप लगने के बाद पूर्व ओलंपिक कोच जॉन गेडर्ट बेहद अपमानित महसूस कर रहा था और इसी वजह से उन्होंने खुदकुशी कर ली है। मिशिगन के अटॉर्नी जनरल डाना नसेल ने अपने बयान में कहा है कि ‘मुझे पता चला है कि जॉन गेडर्ट ने अपनी जिंदगी खत्म कर ली है। ये एक दुखद कहानी का दुखद अंत है’। जॉन गेडर्ट अमेरिका के प्रसिद्ध ट्विस्टर्स जिमनास्टिक क्लब के पूर्व मालिक थे और यहीं पर लैरी नासर नाम का जिमनास्टिक फिजिशियन भी काम करता था और बताया जा रहा है कि उसपर भी महिला खिलाड़ियों से यौन शोषण के आरोप लगे थे और उसके बाद ही ट्विस्टर को बेच दिया गया था और बाद नें ट्विस्टर जिमनास्टिक क्लब का नाम बदल दिया गया।

मिशिगन के अटॉर्नी जनरल डाना नसेल के ऑफिस ने अपनी रिपोर्ट में सनसनीखेज खुलासा करते हुए आरोप लगाया था कि ‘पूर्व ओलंपिक कोच जॉन गेडर्ट लड़कियों का जबरन यौन शोषण किया, उनके साथ धोखाधड़ी की और ट्रेनिंग के लिए क्लब आने वाली जिमनास्ट महिला खिलाड़ियों के साथ बलात्कार भी किया’। इन आरोपों के अलावा भी पूर्व ओलंपिक जिमनास्ट पर और भी कई सनसनीखेज आरोप लगाए गये थे। मिशिगन के अटॉर्नी जनरल के ऑफिस के मुताबिक ‘जॉन गेडर्ट महिला खिलाड़ियों को मानसिक और शारिरिक तौर पर टॉर्चर किया करता था। चोटिल खिलाड़ियों को भी जबरदस्ती ट्रेनिंग दिया करता था, एक्स्ट्रीम लेवल पर महिला खिलाड़ियों को इमोशनल और फिजिकल शोषण किया करता था’। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कोच जॉन गेडर्ट बुलिमिया और एनोरेक्सिया जैसी बीमारियों का भी शिकार हो गया था जिसमें अकसर खुदकुशी करने के ख्याल आते रहते हैं।

अमेरिकन न्यूज चैनल सीएनएन के मुताबिक कोच जॉन गेडर्ट पर ये तमाम आरोप 2008 से 2016 के दौरान लगे थे जिसमें कई लड़कियों ने मानसिक, शारीरिक हिंसा के साथ बलात्कार के आरोप लगाए थे। जॉन गेडर्ट पर 14 मानव तस्करी, चोटिल हो जाने तक टबरन ट्रेनिंग देने, बलात्कार जैसे संगीन धाराओं में मुकदमे दर्ज किए गये थे।

‘आत्महत्या कर इंसाफ से भागा गेडर्ट’

पूर्व ओलंपियन जिमनास्ट कोच जॉन गेडर्ट पर बलात्कार का आरोप लगना वाली लड़कियों ने उसकी मौत के बाद कहा है कि ‘खुदकुशी कर जॉन गेडर्ट इंसाफ से भागा है’। जॉन गेडर्ट की पहली पीड़िता ने अपने बयान में कहा है कि जॉन गेडर्ट के खिलाफ सभी पीड़िताएं पूरी हिमम्त से खड़ी रहीं और उसने कायरता पूर्ण कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि ‘दो बच्चों की मां होने के कारण अब मैं चैन से सिर्फ इसलिए सो सकूंगी क्योंकि अब जॉन गेडर्ट किसी और लड़की को अपना शिकार नहीं बना पाएगा। वहीं, यूएसए जिमनास्ट ने भी जॉन गेडर्ट की मौत के बाद अपना बयान जारी कर दिया है। बयान में कहा गया है कि ‘हम सबको उम्मीद थी कि जॉन गेडर्ट पर जो भी आरोप लगाए गये हैं उसके लिए कानूनी तौर पर सही इंसाफ हो पाता, मगर जॉन गेडर्ट की मौत की खबर से हम शॉक्ड हैं और जिमनास्टिक कम्यूनिटी के साथ हमारी संवेदनाएं हैं।’ आपको बता दें कि यौन शोषण और मानव तस्करी के इल्जाम लगने के बाद जॉन गेडर्ट को 2018 में सस्पेंड कर दिया गया था।

39800cookie-checkमानव तस्करी और बलात्कार का आरोप लगने के बाद पूर्व ओलंपिक कोच ने की खुदकुशी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
For Query Call Now